Monday, May 20, 2019

Backlink क्या है? और कैसे इसका उपयोग करते है?

Backlink क्या है? और कैसे इसका उपयोग करते है? और इसका SEO में इसका क्या उपयोग है?  सामान्यतः यह सवाल हर नए ब्लॉगर के मन में होता है। यदि आप भी एक ब्लॉगर हैं तो आपको हमेशा एक सवाल आपके भी मन में आता होगा कि कैसे अपने ब्लॉग को गूगल में टॉप पोजीशन में रैंक करें? तो आज आपको इस ब्लॉग पोस्ट की Help से आपको Backlink से Related सारी Information दी जाएगी। जिससे आप Backlink का प्रयोग करके अपने Blog या Website को Google में एक अच्छी position पर Rank कर सकते हैं।

Backlink क्या है और कैसे इसका उपयोग करते है


बैकलिंक क्या है? और कैसे इसका उपयोग करते हैं? इसके बारे में हर ब्लॉगर को पता होना चाहिए। क्युकी Backlink का Blogging के क्षेत्र में बहुत योगदान है। जो लोग पहले से ही Blogging की फील्ड में उन्हें पता है एक पोस्ट या ब्लॉग के लिए बैकलिंक लेना कितना जरुरी है, बैकलिंक की Help से हमारा Blog, Google में बहुत जल्दी Rank करने लगता है। Backlink की Help से हमारा ब्लॉग जब Google पर Rank करने लगता है तो हमारे Blog पर Traffic भी आने लगता लगता है। जिससे हमारा ब्लॉग बहुत कम समय में Famous हो सकता है। इसलिए Backlink बहुत ही उपयोगी होता है, Blogging के क्षेत्र में।

Backlink क्या है? और कैसे इसका उपयोग करते है?


 Backlink एक प्रकार का Link होता है, जो एक Website से दूसरी Website में जाने का रास्ता होता है। जब किसी Search Engine जैसे Google पर किसी Web Page को Visit करते है तो यदि उस Web Page के अंदर अन्य कोई Web Page का लिंक दिया हो, और हम उस वेब पेज को Visit करते हैं, तो हम दूसरे वाले Web Page को Backlink के Through एक्सेस करते हैं।

साधारण शब्दों में यदि हम किसी वेबसाइट के अंदर किसी अन्य वेबसाइट के लिंक को क्लिक करके उस वेबसाइट को watch करते है  यहां हमने दूसरी Website को एक Backlink के द्वारा एक्सेस किया। यदि एक ऐसी Website या Blog जो पहले से ही बहुत फेमस हो, और उस Website या Blog पर Traffic भी  बहुत अधिक हो और ऐसे में उस Website से Backlink लेना मतलब उस Website या Blog  की किसी पोस्ट में अपनी वेबसाइट या Blog का लिंक लगाना अपने Blog या Website के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है। ऐसे में उस फेमस वेबसाइट का ट्रैफिक हमारी वेबसाइट या ब्लॉग पर भी आएगा। और इससे हमारे ब्लॉग या वेबसाइट की डोमेन अथॉरिटी भी बढ़ेगी।

अगर हमें हमारी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए कही से Backink मिल जाये और उस Website ( जिससे हमने Backlink लिया है ) पर बहुत ट्रैफिक हो तो उस ट्रैफिक का कुछ प्रतिशत हमारे ब्लॉग पर भी आएगा। जिससे हमारे ब्लॉग को भी Google में रैंक होने में मदद मिलेगी। लेकिन इसके लिए जरुरी है कि जिस Website या Blog से हमें Backlink मिल रहा है, या हम जिस Website से बैकलिंक ले रहे हैं, उसकी Domain Authority अच्छी होना चाहिए और उसका Spam Score भी कम होना चाहिए।

Backlink के प्रकार / Type of Backlink 

Backlink सामान्यतः दो प्रकार के होते हैं:-

  1. Do Follow Backlink 
  2. No Follow Backlink

आइये दोनों बैकलिंक्स के बारे में Detail में समझते है।

Do Follow Backlink: 

 Do Follow Backlink ऐसे लिंक्स होते है जिनके द्वारा Link Juice Pass होता है, मतलब किसी एक Web Page से दूसरे Web Page तक पहुंचने का माध्यम होता है Do Follow Backlink और By Default जब भी हम किसी Website या Blog को बैकलिंक देते है, तो वह लिंक Do Follow Backlink होता है।

Do Follow Backlink हमारे ब्लॉग या वेबसाइट के लिए बहुत ही उपयोगी है, यदि हमारे ब्लॉग या वेबसाइट पर पर्याप्त मात्रा में अच्छी क्वालिटी के Do Follow Backlink उयलब्ध हैं तो हमारा ब्लॉग या वेबसाइट गूगल में जल्द ही रैंक करने लगती है, और हमारे ब्लॉग या वेबसाइट की डोमेन अथॉरिटी भी बढ़ जाती है।

Do Follow link Example:

<a href=”http://www.google.com/”>Google</a>

No Follow Backlink: 


 No Follow Backlink का हमारी वेबसाइट या ब्लॉग में बहुत ज्यादा महत्व नहीं होता है। यह Google की सर्च रैंकिंग में भी हमारे ब्लॉग या वेबसाइट की कोई मदद नहीं करता है। इसके द्वारा किसी प्रकार के link juice को भी पास नहीं किया जा सकता है। मतलब यह No Follow Backlink एक Web Page से दूसरे Web Page को नही जोड़ता है। 


No Follow Backlink का उपयोग हम spamming से बचने के लिए हमारी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए करते हैं।  कई बार जब हम एक हमारे ब्लॉग या वेबसाइट के लिए बहुत सारे बैकलिंक ले लेते हैं, तो गूगल को लगता है की हमारी वेबसाइट या ब्लॉग कुछ गलत तरीके को गूगल में रैंक करने के लिए अपना रही है। जिससे हमारे ब्लॉग या वेबसाइट को पैरालाइस होने का खतरा होता है, इसलिए जरुरी है की कुछ मात्रा में हमारे ब्लॉग या वेबसाइट पर No Follow Backlink भी होना चाहिए।

No Follow link Example:

<a href=”http://www.google.com” rel=”nofollow”>


हम इस ब्लॉग पोस्ट में Backlink और उसके प्रकार के बारे में समझ चुके हैं, लेकिन इसके आलावा भी Backlink से जुड़े कुछ तथ्य हैं। आइये इन तथ्यों के बारे में विस्तार से समझते हैं।

{1 } Link Juice: जब किसी Web Page से आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का होमपेज का लिंक या किसी आर्टिकल के लिंक को जोड़ा जाता है तो इससे उस वेबसाइट पर आने वाला ट्रैफिक आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर डाइवर्ट होता है, इस प्रकार जब कई सारी वेबसाइट या ब्लॉग पर अपने Blog या Website की लिंक को जोड़ते है तो एक लिंक जूस बन जाता है, जिससे आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर ट्रैफिक आने लगता है, और गूगल में रैंकिंग भी बढ़ने लगती है।

{2 } Low Quality Backlink: जब हम किसी वेबसाइट या ब्लॉग से बैकलिंक लेते हैं, और वह ब्लॉग या वेबसाइट कोई ऐसी वेबसाइट हो जिसका स्पैम स्कोर बहुत अधिक बढ़ा हुआ हो, या वह वेबसाइट या ब्लॉग एडल्ट कंटेंट से युक्त हो तो, ऐसे में यह बैकलिंक हमारी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए Low Quality Content होगा। इस प्रकार के बैकलिंक्स लेने से हमारे ब्लॉग या वेबसाइट की रैंकिग गूगल में बढ़ने की जगह कम होने लगती है।  इसलिए हमें कभी भी Low Quality Backlinks नहीं लेना चाहिए।

{3 } High Quality Backlink: जब हम किसी ऐसी वेबसाइट या ब्लॉग से बैकलिंक लेते हैं,जिसकी गूगल में रैंक बहुत अच्छी हो, और उस वेबसाइट या ब्लॉग का स्पैम स्कोर भी काफी कम है तो आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए यह एक High Quality Backlink होगा। लेकिन हमें यहां इस बात का ध्यान रखना है की हमें सिर्फ Relevent वेबसाइट से ही बैकलिंक लेना है, मतलब हम जिस वेबसाइट से हम बैकलिंक ले रहे हैं, उस वेबसाइट या ब्लॉग को हमारी वेबसाइट या ब्लॉग से रिलेटेड होना चाहिए।

यदि आपका ब्लॉग Beauty से रिलेटेड है तो आप किसी Beauty से रिलेटेड ब्लॉग या वेबसाइट से ही बैकलिंक ले नहीं तो वह ब्लॉग या वेबसाइट आपके लिए High Quality Backlink नहीं होगा।

{4 } Internal Link: जब हम हमारे ब्लॉग या वेबसाइट पर किसी एक पोस्ट में दूसरी किसी पोस्ट का लिंक लगते है तो इसे Internal Link कहते है। Internal Link लगाने का फायदा यह होता है की जब कोई विजिटर हमारी किसी पोस्ट को पढ़ रहा होता है, वह उस पोस्ट के माध्यम से उस पोस्ट में लगी Internal Link के द्वारा दूसरी पोस्ट तक पहुँचता है। इससे विजिटर कुछ समय तक हमारी वेबसाइट या ब्लॉग पर बना रहता है।

Blog या Website के लिए Backlink कैसे बनाये?


अपने ब्लॉग  वेबसाइट के लिए बैकलिंक कैसे बनाये ये चिंता तो सभी ब्लोगर्स की होती है। कुछ लोग अपने ब्लॉग पर बहुत ज्यादा बैकलिंक बना लेते हैं, तो वही कुछ लोग बहुत कम बैकलिंक बना पाते है। पर क्या ज्यादा बैकलिंक बना लेने से आपकी वेबसाइट या आपका ब्लॉग गूगल में रैंक करने लगेगा तो ऐसा बिलकुल नहीं है।

दोस्तों आप जब भी बैकलिंग ले रहे है तो आप जिस भी वेबसाइट से बैकलिंक ले रहे है उसकी क्वालिटी अच्छी होनी चाहिए न की बैकलिंक की क्वांटिटी। मतलब आपने यदि बहुत सारे बैकलिंक ले भी लिए है, और उनकी क्वालिटी अच्छी नहीं नहीं है तो वे बैकलिंक आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के काम के नहीं।

आइये समझते है कुछ तरीके जिनकी मदद से हम आसानी से अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए Quality बैकलिंक ले सकें।

[1] अच्छा कंटेंट लिखे:

जब भी आप अपने ब्लॉग के लिए कंटेंट लिखे तब आप यह ध्यान रखे की वह एक क्वालिटी कंटेंट हो। उसमे किसी प्रकार का कोई Copy Right नहीं होना चाहिए। और कंटेंट में गलतिया नहीं होना चाहिए। ऐसे में जब आप किसी Authorised Website से बैकलिंक लेंगे तो आपको बैकलिंक आसानी से मिल जाएगा।

आप भी यदि किसी को बैकलिंग देना चाहेंगे तो आप सबसे पहले उस वेबसाइट पर कंटेंट की क्वालिटी को चेक करेंगे तभी आप उस वेबसाइट या ब्लॉग को बैकलिंक देना पसंद करेंगे। इसलिए जरुरी है की आप भी अपने ब्लॉग पर हाई क्वालिटी के कंटेंट को लिखे।

[2] Guest Blogging करें:

गेस्ट ब्लॉगिंग की मदद से आप आसानी से ब्लॉगिंग की फील्ड में फेमस हो सकते है, इसलिए ब्लॉगिंग की फील्ड में गेस्ट ब्लॉग्गिंग को भी बहुत अच्छा माना जाता है, इसके लिए जरुरी है की आप किसी पॉपुलर वेबसाइट या ब्लॉग के लिए पोस्ट लिखे। जब आपकी पोस्ट उस वेबसाइट या ब्लॉग पर पब्लिश होगी तो लोग आपकी वेबसाइट को भी विजिट करेंगे जिससे आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का भी ट्रैफिक बढ़ने लगेगा।

[3] Comment करें:

आपके ब्लॉग या वेबसाइट के Niche के अनुसार आप अन्य ब्लॉग में कमेंट करें। मतलब यदि आपका ब्लॉग Health से रिलेटेड है तो आप हेल्थ से रिलेटेड अन्य ब्लॉग जो फेमस हो उस पर कमेंट करे और यदि किसी ब्लॉग पोस्ट से रिलेटेड आपकी पोस्ट भी हो तो आप कमेंट में अपनी पोस्ट का URL जरूर दे। जिससे आपको No Follow  बैकलिंक मिलेगा और यह आपके ब्लॉग के लिए ट्रैफिक भी बढ़ाने का काम करेगा। इस लिए आप अच्छे कंटेंट वाली पोस्ट पर कमेंट कर अपना Website Link दे सकते है।

Backlink Blog या Website के लिए बहुत ही उपयोगी है, इसकी मदद से हम अपनी वेबसाइट या ब्लॉग में ट्रैफिक भी बढ़ा सकते हैं, और हमारे ब्लॉग की गूगल में रैंकिंग भी बढ़ा सकते है। आशा है कि आपको इस ब्लॉग पोस्ट की मदद से पता चल गया होगा की कैसे हम बैकलिंक का उपयोग कर सकते है। अब से आप कोशिश करे की आपके वेबसाइट या ब्लॉग का बैकलिंक क्वालिटी बैकलिंक हो।


इसे भी पढ़ें - keyword everywhere

0 comments: